Rudraksha(रुद्राक्ष) :- जानें, क्या है रुद्राक्ष और कितने प्रकार का होता है रुद्राक्ष(Rudraksha)

क्या है रुद्राक्ष जानिये यहाँ-

Rudraksha(रुद्राक्ष):- Hello Friends!! Equicklearning.Com में आपका बहुत- बहुत स्वागत है और आज हम बात करेेंगे रुद्राक्ष क्या है(What is Rudraksha) और इसकी महिमा? इस विषय पर। तो आइये जानते है  रुद्राक्ष(Rudraksha) क्या है? इसके फायदे क्या-क्या है? 

Rudraksha(रुद्राक्ष) क्या है? । What is Rudraksha in Hind

रुद्राक्ष(Rudraksha) का अर्थ है – रुद्राक्ष (रूद्र+अक्षि) अर्थात “रूद्र की आँखवाला” या रूद्र की आँखों से उत्पन्न। रूद्र का अक्ष , माना जाता है कि रुद्राक्ष(Rudraksha) की उत्पत्ति भगवान शिव के अश्रुओं से हुई है. इसी कारण इसका नाम रुद्राक्ष(Rudraksha) बीज में आँख को लक्षित करनेवाली एक या एक से अधिक रेखाएं होती है। यही रेखाएं अक्षि अर्थात आँख का प्रतीक होता है। अनानास एक प्रकार का फल है जो खट्टा मीठा लगता है संस्कृत में इसे “अनन्ताक्ष “ कहा जाता है अनन्ताक्ष का शाब्दिक अर्थ है अनंत अक्षियों वाला। 

इसे भी जाने 👉✔ – DBMS क्या है ?

वास्तव में यह फल देखने में भी अनंत आँख वाला जैसा ही लगता है। अतः यह स्पष्ट है कि अक्ष शब्द अक्षि का ही वाचक है। “अक्षम” का शाब्दिक अर्थ इन्द्रिय-विषय होता है।Rudraksha एक ऐसी वास्तु है जिसे धारण करने से कभी कोई दुःख पास नही आता| रुद्राक्ष(Rudraksha) को प्राचीन काल से आभूषण के रूप में,सुरक्षा के लिए,ग्रह शांति के लिए और आध्यात्मिक लाभ के लिए प्रयोग किया जाता रहा है. यह पहले सिर्फ पंडित द्वारा धारण किये जाते थे| क्यों की किसी को भी इसका महत्व नही पता था.

Rudraksha :- जानें, क्या है रुद्राक्ष और क्या Rudraksha(रुद्राक्ष) :- जानें, क्या है रुद्राक्ष और कितने प्रकार का होता है रुद्राक्ष(Rudraksha)

कुल मिलाकर मुख्य रूप से सत्तरह प्रकार के रुद्राक्ष(Rudraksha) पाए जाते हैं, परन्तु ग्यारह प्रकार के रुद्राक्ष विशेष रूप से प्रयोग में आते हैं. रुद्राक्ष(Rudraksha) का लाभ अदभुत होता है और प्रभाव अचूक , परन्तु यह तभी सम्भव है जब सोच समझकर नियमों का पालन करके रुद्राक्ष धारण किया जाय. बिना नियमों को जाने गलत तरीके से रुद्राक्ष(Rudraksha) को धारण करने से लाभ बिलकुल नहीं होता , बल्कि कभी कभी नुकसान भी हो सकता है.

इसे भी जाने 👉✔ Directory Structure of Laravel in Hindi | Laravel Directory structure

रुद्राक्ष क्या है जानने की जिज्ञासा प्रायः अध्यात्म से जुड़े व्यक्तियों में अवश्य होती है। रुद्राक्ष धारण करना सर्वसिद्धिदायक तथा सर्वफलसाधक है। पौराणिक शास्त्रों में रूद्राक्ष(Rudraksha) के सम्बन्ध में कहा गया है की जिस प्रकार स्वयं रूद्र रुद्राक्ष(Rudraksha) धारण करके ही रूद्रत्व को प्राप्त हुए, मुनि सत्य-संकल्प को प्राप्त करते है तथा ब्रह्म ब्रह्मत्व को प्राप्त होते है उसी प्रकार वर्तमान युग में विधिपूर्वक मंत्रों से अभिमंत्रित कर रुद्राक्ष(Rudraksha) धारण करने से व्यक्ति “स्वयं के व्यक्तित्व” को प्राप्त करता है।

रद्राक्षधारणादेव रुद्रो रूद्रत्वमाप्नुयात्। मुनयः सत्यसंकल्पा ब्रह्मा ब्रह्मत्वमागतः।।

लेकिन जैसे जैसे लोगो को इसका महत्व का पता चला यह बहुत ही मांग में आने लग गया है| हर व्यक्ति इसे खरीदना चाहता है| क्यों की इसके फायदे ही अनेक है|

What is Rudraksha tree । Rudraksha Tree क्या है?

यह एक माला है जो की एक पेड़ का बीज है। यह पेड़ बहुत ही अनमोल माना गया है| ये पेड़ आमतौर पर पहाड़ी इलाकों में ऊंचाई पर होता है| हिमालय और पश्चिमी घाट सहित कुछ और जगहों पर भी पाए जाते हैं।

पहले यह हर जगह आसानी से मिल जाते थे लेकिन अफसोस की बात यह है. लंबे समय से इन पेड़ों की लकड़ियों का इस्तेमाल भारतीय रेल की पटरी बनाने की वजह से काट दिया गया है|

जिस वजह से इसका मिलना जैसे जंग जीतने के बराबर हो गया है| जिस वजह से आज पुरे भारत देश में बहुत कम रुद्राक्ष(Rudraksha) के पेड़ बचे हैं।

रुद्राक्ष(Rudraksha) का महत्व क्या है और इससे धारण करने से क्या फायदा होता है आइये जानते है|

इसे भी जाने 👉✔ Laravel Routing In Hindi


Benefits of Rudraksh । रुद्राक्ष के लाभ

1-> रुद्राक्ष(Rudraksha) शरीर के अवयवों को बलवान बनाता है। यह धातु को पुष्ट तथा रक्त विकार नष्ट करता है।

2-> शरीर के बाह्य तथा आंतरिक कीटाणुओं को मारता है। शरीर में होने वाले अनेक प्रकार के रोगों को नष्ट करने की क्षमता रुद्राक्ष(Rudraksha) में विद्यमान है।

3-> यह कफ, वायुविकार, मानसिक संताप ( Mental illness), चेचक, प्रसूति रोग, पक्षाघात, स्नायु निर्बलता इत्यादि रोगों को ठीक करता है। इससे रक्त चाप तथा ह्रदय रोग दूर होते है।

4-> स्वाद की दृष्टिकोण से यह खट्टा, गर्म और रुचिकर होता है। रुद्राक्ष(Rudraksha) का प्रयोग महाऔषधि के रूप में किया जाता था, है और रहेगा।

5-> रुद्राक्ष में इतनी शक्ति है की विधिपूर्वक धारण करने वाले व्यक्ति के समस्त शारीरिक, मानसिक तथा आध्यात्मिक संतापों को दूर कर देता है।

इसे भी जाने 👉✔ Variable क्या होता है? । What is Variable in Hindi?

Read These Articles

1. Why is Maida dangerous For You? Side Effects of Maida

2. How To Detox Your Body With Lemon Water?

3. How To Detox Your Body With Juicing?

4. Most People Do Not Know The Way To Use Castor Oil Properly

5. 4 Steps Night Routine for Clear and Glowing Skin

6-> ग्रहो के अनिष्ट से बचने के लिए रुद्राक्ष का प्रयोग करना चाहिए। यह भूत-प्रेत आदि का शमन करने वाला भी है। रुद्राक्ष(Rudraksha) के माला पर सभी प्रकार के मंत्रो का जाप किया जा सकता है।

7->वास्तव में अर्थ एवं पर्याय की दृष्टि से रुद्राक्ष(Rudraksha) अत्यंत ही गूढ़ार्थ रूप में भारतीय संस्कृति और सभ्यता में प्रतिष्ठित है। यह सांस्कृतिक चेतना का नियामक शब्द है तो वही साधना को सिद्धि प्रदान करने वाला पद है।

8-> इसी कारण रुद्राक्ष(Rudraksha) के सम्बन्ध में कहा गया है कि रुद्राक्ष धारण से श्रेष्ठ कोई दूसरी वस्तु नहीं है –

“रूद्राक्षधारणाच्च श्रेष्ठं न किंचिदपि विद्यते। “


9-> आपने कभी देखा और सुना भी होगा जो साधु-संन्यासी जंगल में या खुले में रहते है वो हमेशा रुद्राक्ष पहन कर रखते है. क्योकि रुद्राक्ष(Rudraksha) उनकी मदद करता है यह जाने में की वहा का पानी पीने लायक है या नहीं।

10-> जंगल में जहरीली गैस और जहरीला भी हो सकता है। जो उन्हें संकेत देता है की वह उनके लायक है या नही| यह जानना उनके लिए बहुत ही आशन होता है.

11-> रुद्राक्ष (Rudraksha) को पानी के ऊपर पकड़ कर रखने से अगर वह खुद-ब-खुद घड़ी की दिशा में घूमने लगता है| तो समझ जाते है कि वह पानी पीने लायक है।

12-> अगर पानी जहरीला या हानि पहुंचाने वाला होगा तो रुद्राक्ष घड़ी की दिशा से उलटा घूमता है|

Rudraksha mala

रुद्राक्ष(Rudraksha) आपने सुना होगा और आपने इसे बहुतो को पहने हुए भी देखा होगा| लेकिन लोग Rudraksha क्यों पहनते है.

कभी आपने सोचा है? आप सोचते होगे की इसे धारण वो हो करते है वो पंडित होते है या सन्यासी| पर यह सोच बिलकुल गलत है|

इसे भी जाने 👉✔ Movie4Me 2021 Live Link: Download Bollywood, Hollywood, South Movies

Rudraksha bracelet

ऐसे में उस पर न होने की वजह से वह आप पर हो सकती है| उस शक्ति का नकारात्मक असर आप पर भी हो सकता है। और अगरइसे ऐसे समझें की सडक़ पर दो लोग एक-दूसरे पर गोली चला रहे हो लेकिन गोली गलती से आपको लग जाए|

भले ही गोली आप पर नहीं चलाई गई हो पर फिर भी आप जख्मी हो सकते हैं| क्योंकि आप गलत वक्त पर गलत जगह पर मौजूद थे। हालांकि इस सबसे डरने की जरूरत नहीं है| बस आपको रुद्राक्ष(Rudraksha) को धारण करना है जो आपको ऐसे परिस्थिति से बचाती है| रुद्राक्ष 1 मुखी से लेकर 21 मुखी तक पाए जाते है जो अलग अलग लोगो के लिए अलग अलग होते है|

Related Keyword

difference between rudraksha and bhadraksha in hindi | rudraksha benefits in hindi | rudraksh mala benefits in hindi | rudraksh type in hindi | rudraksh ke fayde | rudraksha pehne ke niyam | rudraksha story in hindi | how to identify rudraksha is original in hindi

At The End

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारी आज कि पोस्ट पसंद आयी होगी क्या है  रुद्राक्ष और क्या है इसकी महिमा? तो इसे अपने दोस्तो के साथ share करना ना भुले ।

धन्यवाद !

- Advertisement -
spot_img
Avatar of EquickLearning
EquickLearninghttps://www.equicklearning.com
I’m Anuj Dwivedi & I’m Studying Computer Science & Engineering Course. My age of 20 years. I belong to district Pratapgarh, Uttar Pradesh in India. I’m Share Basic and Professional Knowledge of Computer Science & Technology Related information. People and Student who are a beginner in Computer Technology they can follow my website Step by Step I always help him.

Get in Touch

424FansLike
42FollowersFollow
52SubscribersSubscribe
VPS  Hosting

Latest Posts

WordPress Hosting
x