Generations of computer in Hindi | History of Computer in Hindi

Generations of computer in Hindi

Welcome Back Friends कैसे है आप सभी, मैं आशा करता हूँ की आप सभी अच्छे 😊 ही होंगे|
तो दोस्तों मैं अ‍नुज द्विवेदी आज आप सबके के लिये Generations of Computer से Related पोस्ट लेकर आया हूँ|

First Generation Period 1940-1956

Generation of computer in Hindi | History of Computer in Hindi

Computer की First Generation में इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल को नियंत्रण और प्रसारित करने हेतु Vacume Tubes का उपयोग किया गया इसमें भरी भरकम Computer का निर्माण हुआ किन्तु सबसे पहले उन्ही के द्वारा Computer की परिकल्पना साकार हुई |

ये Tubes के आकार में बड़े तथा ज्यादा गर्मी उत्पन्न करते थे तथा उनमे टूट-फुट तथा ज्यादा खराबी होने की संभावना रहती थी और इसकी गणना करने की क्षमता भी काफी कम थी और First Genration के Computer ज्यादा स्थान Occupy थे|

इस पीढ़ी में मुख्य रूप से Batch Processing Operating System का उपयोग किया गया. इस पीढ़ी में छिद्रित कार्ड, कागज टेप, चुंबकीय टेप इनपुट और आउटपुट डिवाइस का इस्तेमाल किया गया.

First Generation की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  • Vacum tube Technique
  • Machine Language
  • बहुत महंगा
  • विशाल आकार
  • Power Cosumption

इस पीढ़ी के कुछ Computers ex:- ENIAC, IBM-701, IBM-650 etc. 

Second Generation Period(1956-1963):-

Generation of computer in Hindi | History of Computer in Hindi

Second Generation में ट्रांजिस्टर का आविष्कार हुआ | इस दौरान के Computers में ट्रांजिस्टरों का एक साथ प्रयोग किया जाने लगा था, जो वाल्व की अपेक्षा अधिक सक्षम और सस्ते होते थे |

जिन्हें Computer निर्माण हेतु Vacume Tubes के स्थान पर उपयोग किया जाने लगा | ट्रांजिस्टर का आकार Vacume Tubes की तुलना में काफी छोटा होता है | जिससे Computerछोटे तथा उनकी गणना करने की क्षमता अधिक और तेज|

First Genration की तुलना में इनका आकार छोटा और कम गर्मी उत्पन्न करने वाले तथा अधिक कार्यक्षमता व तेज गति के गणना करने में सक्षम थे | Fortron की तरह इस पीढ़ी में, उच्च स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा Cobole का इस्तेमाल किया गया.

Second Generation की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  • Transistor uses
  • First Generation के Computer की तुलना में छोटे आकार
  • First Generation के Computer की तुलना में कम गर्मी पैदा
  • First Generation के Computer की तुलना में कम बिजली की खपत
  • First Generation के Computer से भी तेज
  • बहुत महंगा
  • Assmebly भाषा

इस पीढ़ी के कुछ Computers ex:-IBM 1620,IBM 7094,CDC 1604,CDC 3600

Third Generation Period (1964-1971):-

Generation of computer in Hindi | History of Computer in Hindi

इस Period के Computers का एक साथ प्रयोग किया जा सकता था. यह समकालित चिप विकास की तीसरी पीढ़ी का महत्वपूर्ण आधार बनी,Computer के आकार को और छोटा करने हेतु Technical प्रयास किये जाते रहे|

जिसके परिणाम स्वरूप Silicon Chip पर IC निर्माण होने से Computer में इनका उपयोग किया जाने लगा ! जिसके फलस्वरूप Computer अब तक के सबसे छोटे आकार का उत्पादन करना संभव हो सका|

इनकी गति माइक्रो सेकंड से नेनो सेकंड तक की थी जो स्माल स्केल इंटीग्रेटेड सर्किट के द्वारा संभव हो सका| उच्च स्तर की भाषा (Fourth,Cobole, Pascal PL / 1, बुनियादी, ALGOL-68 आदि के लिए Fortron Second)| इस पीढ़ी के दौरान इस्तेमाल किया गया|

Third Generation की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  •  IC इस्तेमाल किया
  • अधिक विश्वसनीय
  • छोटे आकार
  • कम गर्मी पैदा
  • तेज़
  • कम रखरखाव
  • फिर भी महंगा
  • एसी की जरूरत
  • बिजली खपत कम
  • उच्च स्तर की भाषा का समर्थन

इस पीढ़ी के कुछ Computers ex:-IBM-360,PDP (पर्सनल डाटा प्रोसेसर),IBM-370/168,TDC-316 etc.

Fourth Generation Period (1971-1985)

Generation of computer in Hindi | History of Computer in Hindi

Fourth Generation के Computers में माइक्रोप्रोसेसर का प्रयोग किया गया ! VLSI की प्राप्ति से एकल चिप हजारों ट्रांजिस्टर लगाए जा सकते थे| चौथी पीढ़ी के कम्प्यूटर्स में एक एकल चिप पर लगभग 5000 ट्रांजिस्टर और अन्य सर्किट एलिमेंट्स तथा बड़े पैमाने पर उनसे सम्बंधित एकीकृत VLSI सर्किट का उपयोग किया गया ।

चौथी पीढ़ी के Computer अधिक शक्तिशाली, कॉम्पैक्ट, विश्वसनीय तथा सस्ते थे । इसके परिणाम स्वरुप पर्सनल Computer (पीसी) क्रांति का जन्म हुआ। इस पीढ़ी में Real time Network, Distributed OS का उपयोग किया गया था । सभी उच्च स्तरीय भाषाओँ जैसे की आदि का प्रयोग इस पीढ़ी में हुआ ।

Fourth Generation की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  • VLSI प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल
  • बहुत सस्ते
  • पोर्टेबल और विश्वसनीय
  • पीसी का उपयोग
  • बहुत छोटे आकार
  • पाइपलाइन प्रसंस्करण
  • इंटरनेट की अवधारणा को पेश किया गया
  • नेटवर्क के क्षेत्र में बहुत अधिक विकास
  • Computer आसानी से उपलब्ध हो गया

इस पीढ़ी के कुछComputers ex:- star 1000,PDP 11,क्रे -1 (Super Computer),क्रे एक्स (Super Computer)

Fifth Generation Period (1980-onwards)

Generation of computer in Hindi | History of Computer in Hindi

विकास की इस Fivth Generation में Computers में AI का निवेश किया गया है ! इस तरह के Computer अभी पूरी तरह से develope नहीं हुए है !
इस तरह केComputers को हम रोबोट और विविध प्रकार के ध्वनि कार्यकर्मो में देख सकते है ! ये मानव से भी ज्यादा सक्षम होगा|

Fifth Generation में शामिल हैं:

  1. Robotics
  2. Neural Network

Fifth Generation की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  • ULSI प्रौद्योगिकी
  • कृत्रिम बुद्धि का विकास
  • प्राकृतिक भाषा संसाधन का विकास
  • समांतर प्रोसेसिंग में उन्नति
  • Superconductor के प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उन्नति
  • मल्टीमीडिया सुविधाओं के साथ और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस
  • सस्ती दरों पर बहुत शक्तिशाली और कॉम्पैक्ट Computer की उपलब्धता

इस पीढ़ी के कुछ Computers ex:- Desktop, Laptop, Notebook, UltraBook, Chromebook

Generation Of Computer In Hindi

S. No.Production and Description
1. First GenerationFirst Generation की Period: 1940-1956. Vacume ट्यूब आधारित
2. Second GenerationSecond Generation की Period: 1956-1963. ट्रांजिस्टर आधारित.
3. Third GenerationThird Generation की Period: 1964-1971. IC (इंटीग्रेटेड सर्किट) आधारित.
4. Fourth GenerationFourth Generation की Period: 1971-1985. VLSI माइक्रोप्रोसेसर आधारित
5. Fifth GenerationFivth Generation की Period: 1980-onwards.ULSI माइक्रोप्रोसेसर आधारित

Final Word

तो दोस्तों आज मैंने आप सभी को Generations of computer in Hindi के बारे में बताया हूँ| तो दोस्तों मै आशा करता हूँ की आपको ये Post पसंद आई होगी। अगर आप को ये Post थोड़ी सी भी Useful/Helpful लगी हो Please Follow and Comment जरुर करे और इसे अपने दोस्तों के साथ Share करे! धन्यबाद|

Author's Choice

Introduction to PHP Data Types- Data Types full guide In Hindi 2021

Introduction to PHP Data Types in Hindi PHP data types: scalar types PHP data types: compound types PHP data types: special types PHP Data Types:- C Programming की...

Best platform to learn android app development | Learn Android App Development 2021 Course On PapayaCoders

Papaya Coders is one of the best Platform to learn Android App Development with Android 11 and other version by building real-world apps. Find the best...

PHP Compiler – Best PHP Compiler in 2021 for Beginners

Introduction of PHP Compiler PHP Compiler:- विभिन्न प्रकार के Application को Develop करने के लिए Programming Languages का Use किया जाता है। जब हम किसी...

Popular Categories

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

x