What is Network Security in Hindi | Network Security Kya hai?

Hello Friends! Today we discuss Network Security (What is network security in Hindi?). It is a very crucial issue for every user who uses the Internet. If we using the Internet then we need to secure every time many types of viruses, worm, and hackers see our online activity and find a bug to enter our system and if they find a loop or hole in our security they can steal your personal data. So read all content carefully and know how to secure it?

What is Network Security in Hindi | Network Security Kya ha?

Network security in Hindi –

Network security एक Process है जिसके द्वारा किसी network को unauthorized access
(without permission), hacking तथा Denial-of-service attack(dos attack),virus,worms आदि
सबसे बचाया जाता है।

Network Security एक सगठन की strategy है, जो सभी network traffic सहित अपनी
परिसम्पतियो की सुरक्षा की गारंटी देता है । इसमे software और hardware तकनीक दोनो शामिल है ।

किसी network के access को effective network security द्वारा manage किया जाता है , जो खतरो की एक विस्तृत श्रृंखला को target करता है और फिर उन्हे network मे फैलने या प्रवेश से रोकता है ।

किसी Network मे Network security को बधाने के लिये हमे network की monitoring करनी चाहिये, software तथा hardware components का प्रयोग करना चाहिये, जैसे कि – firewall,Antivirus Software, IDS आदि ।

Types of Network Security:-

  1.  Antivirus and Antimalware Software
  2.  Application Security
  3.  Behavioral Analytics
  4.  Data Loss Prevention(DLP)
  5.  Email Security
  6.  Firewalls
  7.  Mobile Device Security
  8.  Network Segmentation
  9.  Security Information & Event Management(SIEM)
  10.  Virtual Private Network(VPN)
  11.  Web Security
  12.  Wireless Security
  13.  Endpoint Security
  14.  Network Access Control(NAC)

1.Antivirus & Antimalware Software:-

Software का उपयोग malware से बचाने के लिये किया जाता है, जिसमे software, ransomware, trojan, worms और virus शामिल है । Malware भी बहुत खतरनाक हो सकता है क्योकि यह एक network को संक्रमित कर सकता है और फिर दिनो या हफ्तो तक शांत रह सकता है ।

Software malware entry को scan करके आने वाले खतरा(threat) को handle करता है और anomaly का पता लगाने, malware हताने और क्षति को ठीक करनेके लिये बाद मे नियमित रुप से फाइलो को track करता है|

2.Application Security:-

Application security पुरी तरह से महत्वपूर्ण है क्योकि कोई भी App पुरी तरह से perfect
नही बनाया गया है । किसी भी application के लिये यह सम्भव है कि इसमे, कमजोरिया, या holes शामिल हो, जो हम्लावरो द्वारा आपके network मे प्रवेश करने के लिये उपयोग किये जाते है ।

Application Security इस प्रकार उन holes को बंद करने के लिये आपके द्वारा चुने गये software,hardware और प्रक्रियाओ को शामिल करती है ।

What is Network Security in Hindi

3.Behavioral Analytics:-

असमान्य network behaviour का पता लगाने के लिये, आपको यह जानना कि सामान्य व्यवहार
कैसा दिखता है । Behavioral Analytics tools स्वचालित रुप से समझदार गतिविधियो के लिये सक्षम होते है जोकि normal से deviate होते है ।

आपकी सुरक्षा team इस प्रकार एक सम्भावित समस्या और तेजी से बचाव के खतरो से समझौता करने वाले संकेतको के कुशलता से पता लगाने मे सक्षम होगी ।

4.Data loss Prevention(DLP):-

Organizations को गारंटी देनी चाहिये कि उनके staff network के बाहर
संवेदनशील जानकारी नही भेजते है । इस प्रकार, उन्हे DLP Technology, Network Security ऊपायो का उपयोग करना चाहिये,
जो लोगो कोअसुरक्षित तरीके से upload करने, forward या यहा तक कि मह्त्वपूर्ण जानकारी को printकरने के
लिये रोकते है ।

5. Email Security:-

E-mail Gateway को सुरक्षा उल्ल्घन के लिये नम्बर खतरा vector माना जाता है । Attackers receivers
को धोखा देने के लिये परिष्कृत फिशिंग अभीयानो का निर्माण करने के लिये social engineering रणनिति और personal information का उपयोग करते है और फिर malware की सेवा करने वाले websites पर भेजते है ।

एक email सुरक्षा application संवेदनशील data के नुकसान को रोकने के लिये आने वाले हमलो को रोकने और outbound संदेशो को नियंत्रित करने मे सक्षम है ।

6. Firewalls:-

Firewalls आपके trusted आंतरिक network और untrusted बाहरी network जैसे Internet
के बीच एक अवरोध(barrier) रखता है । Defined नियमो का एक set traffic को block या allow करने के लिये होता है ।

एक firewall software, hardware या दोनो हो सकता है । Online होने पर firewall कुशलता से हमारे PC पर traffic का management करता है, in/out connections को monitor करता है और सभी connections को secure करता है ।

7. Mobile device Security:-

Mobile device और App तेजी से cyber criminals द्वारा target हो रहे है । 90% IT सगठन बहुत जल्द निजी मोबाइल उपकरणो पर coparative अनुप्रयोगो का समर्थन कर सकते है ।

वास्तव मे आपके लिये यह नियंत्रित करना आवश्यक है कि कौन से उपकरण आपके network तक पहुच सकते है । Network traffic को निजी रखने के लिये उनके connection को configure करना भी आवश्यक है ।

8.Security Information & Event Management(SIEM):-

SIEM products threats को identify और respond करने के लिये security staff द्वारा आवश्यक सभी Information को एक एक साथ लाया जाता है ।

ये product विभिन्न रुपो मे उपलब्ध है ,जिनमे आभासी और भौतिक उपकरण और server software शामिल है ।

9.Virtual Private Network(VPN):-

एक VPN एक अन्य प्रकार को network सुरक्षा है, जो किसी network के लिये endpoint से connection को encrypt करने मे सक्षम है, ज्यादातर Internet पर Remote Access VPN आमतौर पर Network और Device के बीच communication को authenticate करने के लिये IPsec या secure sockets layer(ssl) का उपयोग करता है ।

10.Network Access Control(NAC):-

यह network सुरक्षा प्रक्रिया आपको नियंत्रित करने मे help करती है कि कौन आपके network तक पहुच सकता है । सम्भावित attakers को बाहर रखने के लिये प्रत्येक device और उपयोगकर्ता को
पहचानना आवश्यक है ।

यह वास्तव मे आपकी सुरक्षा नीतियो को लागू करने मे आपकी सहायता करेगा । Non-Complaint endpoint
devices को केवल सीमित पहुच या block किया जा सकता है ।

The need for network security:-

Network Security निम्न्लिखित कारणो सेआवश्यक है:-

1.Network मे users की secret information को protect करने के लिये जिससे कि दुसरा users इसे access न
कर सके ।
2. किसी unauthorized users द्वारा किसी Information की गलती से या जानबुझकर की जाने वाली unwanted editing से बचाने(protect) के लिये ।
3. किसी information का loss होने से बचाने और इसे destination तक सही तरीके से पहुचाने के लिये ।
4. विशिश्ट परिस्थितियो मे sender द्वारा इनकार से बचाने के लिये किसी भी node द्वारा प्राप्त संदेश की acknowledgement के लिये manage करना ।
5.Message को urgency के मामले मे transmission lines/route मे होने वाले unwanted delay से बचाने के लिये एवम समय परआवश्यक destination तक पहुचाने के लिये ।
6. Network मे data packet या सुचना को असीम रुप से लम्बे समय तक भटकने से बचाने के लिये और इस प्रकार लाइन मे बढती भीड के कारण destination मशीन कुछ internal faults के कारण इसे capture करने मे विफल रहती है ।

Read these contents –

  1. What is File System ?
  2. Directory Structure of Laravel in Hindi ?
  3. What is Network Security in Hindi ?
  4. What is Applet in Java in Hindi  ?
  5. What is OOPs Concept In Hindi ?
  6. Laravel Installation in Windows ?

Final Word –

तो दोस्तों आज मैंने आप सभी को What is Network Security in Hindi के बारे में बताया हूँ| अगर आपको कोई भी Doubte हो तो Comment करके जरुर पूछे ।

तो दोस्तों मै आशा करता हूँ की आपको ये Post पसंद आई होगी। अगर आप को ये Post थोड़ी सी भी Useful/Helpful लगी हो Please Follow and Comment जरुर करे और इसे अपने दोस्तों के साथ Share करे! धन्यबाद|

Author's Choice

Introduction to PHP Data Types- Data Types full guide In Hindi 2021

Introduction to PHP Data Types in Hindi PHP data types: scalar types PHP data types: compound types PHP data types: special types PHP Data Types:- C Programming की...

Best platform to learn android app development | Learn Android App Development 2021 Course On PapayaCoders

Papaya Coders is one of the best Platform to learn Android App Development with Android 11 and other version by building real-world apps. Find the best...

PHP Compiler – Best PHP Compiler in 2021 for Beginners

Introduction of PHP Compiler PHP Compiler:- विभिन्न प्रकार के Application को Develop करने के लिए Programming Languages का Use किया जाता है। जब हम किसी...

Popular Categories

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

x